प्रदीप सम्राट, राैतहट, साओन ३० । भाईबाहिन बीचके प्रेम आ सनेहके पबित्र परब रक्षाबन्धन आजु देशभर बहुते धुमधामके साथ मानबल गेल हए । प्रत्येक वर्ष साओन पुर्णिमाके दिन रक्षाबन्धन परब मनाबेके चलन रहल हए। यी परबमे बाहिनसब अपन भाईसबके फलफुल आ मिठाई लगायत बहुत किसिमके मिष्ठान परिकार खियाके दिर्घायुके कामना करयित हातमे रंगबिरंगके रेशमके डोरा भेल राखी बान्हेके चलन रहल हए । भाई सब भी बाहिनसब के जीवनमे आबेबाला संकटमे सहयोग करेके बाचा सहित श्रद्धासे जुडल जेताना रुपैया,कपडा,गरगहना लगायतके सामग्री सब उपहार स्वरूप देवले। रक्षाबन्धन परबमे बिबाहित बहिनसब भाईसबके राखी बान्हेला नैहर आबले आ नआबेबालि बाहिनके घरे भाईसब जाके राखी बन्हाबले । बाहिन नभेल सब दोसरके बाहिन मानके राखी बन्हाबेके चलन रहल हए चाहे ब्राह्मण पुरोहित तथा पण्डित सबके हातसे राखी बन्हाबेके चलन रहल हए । ओइसहि भाई नभेल बहिन सब दोसरके भाई मानके राखी बान्हले । सत्युगमे दैत्यराज बलिके देवतासब संघेके युद्धमे जाएके समय बहिनसब गंगा आ यमुना साओन शुक्ल पूर्णिमाके दिन खाश बिधिसे अभिमंत्रित करके डोरा बाँधदेलासे सभे युद्धमे उन्कर जीत भेल पौराणिक धार्मिक बिश्वाश रहल रहयित आएल हए । एही अवसर पर प्रदेश २ के सरकार आजु रक्षाबन्धन परबके अवसरमे सार्वजनिक बिदा देले हए । प्रदेश २ सरकार बुधबार एक शुभकामना संदेश जारि करयित आजु परल रक्षाबन्धनके सार्वजनिक बिदाके घोषणा कएले रहे ।

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments