विचार/विश्लेषण




  • ओली आ गौत्मके कारण गृह युद्ध होएके सम्भावामे



    गौर/ मधेशी, थारु आ आदीवासी जनताके अधिकार नदेनाई, अखण्ड सुदुरपश्चिमाञ्चाल लगायएत पहाडी समुदायके मागँके सम्वोधन करणाई, टिकापुर घटना भेल विश्लेषक सवके कहनाम रहल हए ।

    गौर/ मधेशी, थारु आ आदीवासी जनताके अधिकार नदेनाई, अखण्ड सुदुरपश्चिमाञ्चाल लगायएत पहाडी समुदायके  मागँके सम्वोधन करणाई, टिकापुर घटना भेल विश्लेषक सवके कहनाम रहल हए । नेकपा एमालेके अध्यक्ष केपी ओली गृहमन्त्रि बामदेव गौत्मके अभि व्यक्तिसे और भी मधेश और थारु जनजातीके आन्दोलन करेपर मजवुर कर रहल हए, जेकरा कारण अव नेपाल गृह युद्धमे परिणत होसकेके सम्भावना रहल स्थानीय राजनैतिक विशलेषक चिरंजीव सिहके कहनाम रहल हए । अन्य जगहमे आन्दोलन होएला पर सेना परिचालन या दंगाग्रस्त घोषण नहोई मेधशी आ थारुके आन्दोलनमे होनाई सरासर अन्याय हए । जेकरासे आम जनतामे और भी आक्रोस पैदा होसकेके आ आन्दोलन उग्र रुपमे परिणत हो सकईत हए जे कओनो भी शक्तिके कावुसे वाहर हो सकेके उनकर बुझाई रहल हए ।  आज देशके राजनैतिक दलके प्रमुख व्यक्तिसव गैर जिम्मेवारी पूर्ण अभिव्यक्ति देनाई दुःख बात हए जेसे जनतामे आक्रोश वढल हए । अभिव्यक्ति आ सेना परिचालनसे जदाँ अभि आन्दोलनकारीके मागँके सम्बोधन करनाई जरुरी देखल गेल हए ।  



बज्जिका वाणी

2072-08-08
2070-01-22 .pdf

बिकाश चौतारी

BC 2073-05-06
BC 2073-05-06
BC 2073-04-31
2072-08-28

जिल्ला प्रहरी का. - ५२००९९
जिल्ला प्रहरी का. - ५२०१७७
-


Desing and Developed by